काश्मीर में जी-20 समिट के भारत की मेज़बानी से पाकिस्तान को आपत्ति

पाकिस्तान का कहना है कि "जम्मू कश्मीर", पाकिस्तान और भारत के बीच का विवादित अंतरराष्ट्रीय मुद्दा है। पिछले सात दशकों से भी अधिक समय से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के एजेंडे में है ।

पाकिस्तान के फ़ोरेन मिनिस्ट्री के प्रवक्ता मिस्टर आसिम इफ्तिखार अहमद ने अपने एक वक्तव्य में कहा कि पाकिस्तान ने भारतीय मीडिया में चल रही उन खबरों का संज्ञान लिया है, जिनमे कहा जा रहा है कि भारत "जी-20" की कुछ बैठकें संघ शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में कराने पर विचार’’ कर सकता है । आसिम अहमद ने ज़ोर देकर कहा कि भारत की ऐसी किसी भी कोशिश को पाकिस्तान पूरी तरह नकारता है ।

पाकिस्तान का कहना है कि "जम्मू कश्मीर", पाकिस्तान और भारत के बीच का विवादित अंतरराष्ट्रीय मुद्दा है। पिछले सात दशकों से भी अधिक समय से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के एजेंडे में है ।

जी-20 प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं को एक मंच पर लाने वाले प्रभावशाली समूह है जिसकी सन 2023 की बैठक की मेजबानी भारत करने वाला है ।

पाकिस्तानी प्रवक्ता अहमद ने यह भी कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय भारत से 5 अगस्त, 2019 को लिये गये (अनुछेद 370 हटाने का फ़ैसला ) अपने फैसले को वापस ले और सभी कश्मीरी राजनीतिक कैदियों को रिहा करे ।